किसान ने कर दिया कमाल, स्वीट कॉर्न की खेती कर 6 माह में बना मालामाल 

किसान ने कर दिया कमाल, स्वीट कॉर्न की खेती कर 6 माह में बना मालामाल 

Sweet Corn Cultivation: आज किसान कठिन परिश्रम करके खेती-किसानी में आधुनिक पद्धति को अपनाकर लाखों की कमाई कर रहे हैं। अब किसान अपनी कमाई बढ़ाने के लिए परंपरागत फसलों की खेती को छोड़ अब नई-नई फसलों की खेती कर रहे हैं। ऐसे ही हरियाणा के फतेहाबाद जिला के नाढोडी गांव के प्रगतिशील किसान राधेश्याम ने पहली बार स्वीट कॉर्न (Sweet Cron) की खेती की और मोटा मुनाफा कमा लिया। स्वीट कॉर्न की खेती कम लागत में शुरू की जा सकती है और इससे बढ़िया कमाई होती है।

Read Also: महिलाओं को 'गोबर' में दिखा भविष्य, पेंट बनाकर कर रहीं बंपर कमाई, CM ने की भी सराहना 

लीज पर जमीन लेकर शुरू की स्वीट कॉर्न की खेती
राधेश्याम ने 2 एकड़ जमीन लीज पर लेकर स्वीट कॉर्न की खेती की। उसने 6 महीनों में लगातार दो बार फसल का उत्पादन ले लिया। इससे उनको लाखों का हुआ। इसमें कम खर्च में ज्यादा कमाई होती है। किसान राधेश्याम अपनी डेढ़ एकड़ जमीन में रंगीन शिमला मिर्च की खेती लगातार तीन वर्षों से कर रहे हैं। शिमला मिर्च के बिजनेस में भी युवा किसान ने लाखों रुपये का मुनाफा कमाया है।
 

Read More:  ड्रैगन फ्रूट की खेती कर कमा रहीं लाखों रुपए, अब दूसरों के लिए बन रहीं मिसाल

कम लागत में ज्यादा मुनाफा
प्रगतिशील किसान के मुताबिक, स्वीट कॉर्न की सब्जी मंडी में थोक भाव 300 रुपये से 400 रुपये प्रति क्विंटल के बीच मिलता है। स्वीट कॉर्न की खेती पर प्रति एकड़ 25000 से 30000 रुपये का ही खर्च होता है और मुनाफा लाखों में होता है। इसमें कीटनाशक दवाइयां और रासायनिक खाद का नाममात्र इस्तेमाल होता है। 


किसानों को परंपरागत खेती को छोड़कर सब्जियों और बागवानी को बढ़ावा देना चाहिए

उनके मुताबिक, डेढ़ एकड़ जमीन में खाने के लिए अनाज भी पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल पाता, तब उन्होंने खेती के तकनीक को बदलकर सब्जी के क्षेत्र में काफी मुनाफा कमाया है। उन्होंने कहा कि किसानों को परंपरागत खेती को छोड़कर सब्जियों और बागवानी को बढ़ावा देना चाहिए, जिससे किसानों को कम लागत में ज्यादा मुनाफा हासिल किया जा सकता है।

Read Also: छोटे से गांव में रहकर 50 हजार रुपये महीना से ज्यादा की कमाई कर रहा ये शख्स  

स्वीट कॉर्न (Sweet Corn) में पर्याप्त मात्रा में विटामिन, प्रोटीन भरा होता है। चाट की तरह बना कर इसका उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा, दुधारू पशुओं को खिलाने से उनके अंदर बांझपन की बीमारी से निजात मिलेगा।

सोशल मीडिया पर देखें खेती-किसानी और अपने आसपास की खबरें, क्लिक करें...

- देश-दुनिया तथा खेत-खलिहान, गांव और किसान के ताजा समाचार पढने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म गूगल न्यूजगूगल न्यूज, फेसबुक, फेसबुक 1, फेसबुक 2,  टेलीग्राम,  टेलीग्राम 1, लिंकडिन, लिंकडिन 1, लिंकडिन 2टवीटर, टवीटर 1इंस्टाग्राम, इंस्टाग्राम 1कू ऐप से जुडें- और पाएं हर पल की अपडेट