समर्थन मूल्य पर धान, ज्वार एवं बाजरा बेचने के लिए पंजीयन 15 अक्टूबर तक

समर्थन मूल्य पर धान, ज्वार एवं बाजरा बेचने के लिए पंजीयन 15 अक्टूबर तक

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार राज्य के किसानों से वर्ष 2021-22 के लिए धान, बाजरा तथा ज्वार की खरीदी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर करने जा रही है। इसके लिए पंजीयन 15 अक्टूबर 2021 तक चलेंग। किसानों को समर्थन मूल्य पर अपनी उपज बेचने के लिए पंजीकरण अवश्य करवाना होगा।

इसे भी देखें

आनंद संस्थान की अच्छी पहल, प्रदेश के 52 गांवों को बनाएगा आनंद ग्राम

कहां करें पंजीयन
मध्य प्रदेश के किसान खरीफ फसलों के पंजीयन ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों प्रकार से कर सकते हैं। किसानों की सुविधा के लिए कई प्रकार की आनलाइन पंजीयन प्रक्रिया रखी गई है, जिससे किसान आसानी से घर बैठे अपना पंजीकरण कर सकते हैं। किसान अब अपना पंजीयन डाटा एंट्री के अलावा एमपी किसान एप, प्राथमिक कृषि सहकारी साख संस्थाओं एवं विगत खरीफ वर्ष में उपार्जन/पंजीयन करने वाले महिला स्व-सहायता समूह एवं एफपीओ द्वारा संचालित पंजीयन केंद्र से भी करा सकेंगे। इसके अलावा सिकमिदार एवं वनाधिकार पट्टाधारी अपना पंजीयन समिति / एफपीओ / महिला स्व-सहायता समूह द्वारा संचालित केन्द्रों में ही करा सकेंगे। प्रदेश में 1,718 पंजीयन केंद्र बनाए गए हैं।

इसे भी देखें

अस्थाई कृषि पम्प के लिए बिजली कनेक्शन की सरकार ने जारी की दर, जानिए कितना लगेगा शुल्क

सिकमी/बटाईदार किसान पंजीयन कैसे करें?
राज्य के सिकमी एवं बटाईदार श्रेणी के किसान उपार्जन के लिए आवेदन कर सकेंगे, जिनके पास कुल रकबा 5 हेक्टेयर से अधिक नहीं होगा। ऐसे किसानों के अनुबंध की एक प्रति पंजीयन कराने वाले व्यक्ति/कृषक द्वारा संबंधित तहसीलदार को उपलब्ध कराना होगा। पंजीयन के समय सिकमी / बटाईदार के साथ मूल भस्वामी के आधार नम्बर की जानकारी भी ली जाएगी। पंजीयन के लिए 15 अगस्त 2021 तक कराये गये अनुबंध ही मान्य होंगे।

इसे भी देखें

11 मसाला फसलों की खेती पर सरकार देगी अनुदान, जानें पूरी प्रक्रिया और करें आवेदन

लगने वाले दस्तावेज
समर्थन मूल्य पर फसल बेचने के लिए किसान को कुछ दस्तावेज अपने पास रखना जरुरी है। जिन किसानों ने खरीफ एवं रबी के मौसम में ई-उपार्जन पोर्टल पर अपना पंजीयन कराया था, उन्हें पुन: दस्तावेज देने की जरूरत नहीं होगी। किसान द्वारा विगत वर्ष दिये गये आधार कार्ड और बैंक पासबुक के आधार पर पंजीयन किया जा सकेगा।

इसे भी देखें

नहीं होगी पटवारी की जरूरत, मोबाइल से खुद नापिए अपनी जमीन जानिए कैसे?

धान तथा ज्वार-बाजरे का न्यूनतम समर्थन मूल्य
मध्य प्रदेश सरकार राज्य के किसानों से खरीफ फसल की खरीदी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर करने जा रही है। यह न्यूनतम समर्थन मूल्य केंद्र सरकार के द्वारा पहले से घोषित किए जा चुके है। इस वर्ष खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य इस प्रकार है।

इसे भी देखें

भारत की धरती पर चीतों की वापसी से जुड़ी जैव विविधता की टूटी कड़ी: प्रधानमंत्री

धान-1940 रूपये प्रति क्विंटल
ज्वार-2738 रूपये प्रति क्विंटल
बाजरा -2250 रूपये प्रति क्विंटल

- देश-दुनिया तथा खेत-खलिहान, गांव और किसान के ताजा समाचार पढने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म गूगल न्यूज, फेसबुक, फेसबुक 1, फेसबुक 2,  टेलीग्राम,  टेलीग्राम 1, लिंकडिन, लिंकडिन 1, लिंकडिन 2, टवीटर, टवीटर 1, इंस्टाग्राम, इंस्टाग्राम 1, कू ऐप से जुडें- और पाएं हर पल की अपडेट.