अब इस राज्य के किसान कर सकेंगे मधुमक्खी पालन, सरकार ने योजना को दी मंजूरी

अब इस राज्य के किसान कर सकेंगे मधुमक्खी पालन, सरकार ने योजना को दी मंजूरी

नई दिल्ली। कृषि क्षेत्र से संबंधित एक बड़ी परियोजना की शुरुआत का बेसब्री से इंतजार कर रहे किसानों के लिए अब खुशखबरी है। केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर में प्रदेश के प्रशासन ने एक खास परियोजना को मंजूरी दे दी है। इस परियोजना के तहत अगले तीन वर्षों में 47 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। 
 

राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को बताया कि इस परियोजना से राज्य में शहद उत्पादन में उल्लेखनीय बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। कृषि उत्पादन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अटल डुल्लू ने कहा कि इस परियोजना से वार्षिक शहद उत्पादन 69 करोड़ रुपये से बढक़र पांच साल में 682 करोड़ रुपये तक होने का अनुमान है। 

Read More: ये खेती करने से होती रहेगी पैसों की बारिश, निवेश एक बार कमाई सालों-साल  

परियोजना से 8,122 लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद
उन्होंने बताया कि परियोजना से 8,122 लोगों को रोजगार मिलने और निजी क्षेत्र के 82 उद्यमों का निर्माण होने की उम्मीद है। दरअसल, मधुमक्खी पालन से किसानों की आर्थिक स्थिति में काफी सुधार हो रहा है। यही वजह है कि केंद्र सरकार ने यह मंजूरी दी है।

Read Also: किसान ने कर दिया कमाल, स्वीट कॉर्न की खेती कर 6 माह में बना मालामाल 
 

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने जीआई महत्वपूर्ण
वहीं, बीते दिनों खबर सामने आई थी कि राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड (एनबीबी) मधुमक्खी पालक समुदाय के उत्थान और मूल्यवर्धन को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न प्रकार के शहद के लिए भौगोलिक संकेतक (जीआई) का दर्जा पाने में हितधारकों का समर्थन करेगा। कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह बात कही थी।

Read Also: महिलाओं को 'गोबर' में दिखा भविष्य, पेंट बनाकर कर रहीं बंपर कमाई, CM ने की भी सराहना 


 
जीआई का दर्जा विशिष्ट भौगोलिक पहचान वाले उत्पादों को दिया जाता है। राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने के लिए जीआई महत्वपूर्ण है।

सोशल मीडिया पर देखें खेती-किसानी और अपने आसपास की खबरें, क्लिक करें...

- देश-दुनिया तथा खेत-खलिहान, गांव और किसान के ताजा समाचार पढने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म गूगल न्यूजगूगल न्यूज, फेसबुक, फेसबुक 1, फेसबुक 2,  टेलीग्राम,  टेलीग्राम 1, लिंकडिन, लिंकडिन 1, लिंकडिन 2टवीटर, टवीटर 1इंस्टाग्राम, इंस्टाग्राम 1कू ऐप से जुडें- और पाएं हर पल की अपडेट