फल अनुसंधान केन्द्र कुठुलिया रीवा के वैज्ञानिकों द्वारा आम की प्रजाति सुन्दरजा सेलेक्शन-2 अनुशंसित

फल अनुसंधान केन्द्र कुठुलिया रीवा के वैज्ञानिकों द्वारा आम की प्रजाति सुन्दरजा सेलेक्शन-2 अनुशंसित

रीवा। जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय फल अनुसंधान केन्द्र कुठुलिया कृषि महाविद्यालय रीवा के वैज्ञानिकों डा यू एस बोस, डा टी के सिंह एव सुधीर कुमार  सिंह द्वारा आम की प्रजाति सुन्दरजा सेलेक्षन-2, राज्य बीज उप समिति द्वारा अनुशंसित की गई है प्रजाति रीवा जिले के प्रसिद्ध गोविन्दगढ़ आम के पुराने सीड लिंग से विकसित की गयी है

इसे भी देखें

आज है विश्व बांस दिवस, जानिए क्यों मनाया जाता है यह दिन

यह प्रजाति केसर प्रजाति के समान है । इसके वृक्षों की ऊँचाई 7 से 8 मीटर, इसके फलों की परिपक्वता अवधि 135 से 140 दिन है इसकी भण्डारण गुणवत्ता सामान्य तापक्रम पर 10 से 12 दिन एवं फ्रीजिंग में 30 दिन रहती है। अत्यंत खुशबूदार, मीठा एवं प्रचुर गूदा, युक्त एवं भंडारण गुणवत्ता उत्कृष्ट है। अनुसंधान की उपलब्धि पर संचालक अनुसंधान सेवायें डॉ. जी. के. कोतू द्वारा बधाई दी गई है।

इसे भी देखें

जहां महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढता है, वहां सफलता निश्चित है: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. एस. के.  पयासी, डॉ. एस. के. त्रिपाठी, डॉ. आई. एम. खान, डॉ. रघुराज किशोर तिवारी, डॉ. राजेश तिवारी, डॉ. ए. के. जैन, डॉ. बी. एम. मौर्या, डॉ. ए. एस. चैहान, डॉ. एस. एम. कूर्मवंषी, डॉ. आर. पी. जोशी, ंडॉ. अखिलेश कुमार, डॉ. ए. के. गिरी, डॉ. राधा सिंह, गौरव कुमार नामदेव एवं समस्त कृषि विज्ञान केन्द्र के स्टाफ ने बधाइयां एवं शुभकामनाएं दीं।

इसे भी देखें

भारत की धरती पर चीतों की वापसी से जुड़ी जैव विविधता की टूटी कड़ी: प्रधानमंत्री

- देश-दुनिया तथा खेत-खलिहान, गांव और किसान के ताजा समाचार पढने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म गूगल न्यूज, फेसबुक, फेसबुक 1, फेसबुक 2,  टेलीग्राम,  टेलीग्राम 1, लिंकडिन, लिंकडिन 1, लिंकडिन 2, टवीटर, टवीटर 1, इंस्टाग्राम, इंस्टाग्राम 1, कू ऐप से जुडें- और पाएं हर पल की अपडेट.