सावधान! मप्र में खरीदी जा रही घटिया धान

सावधान! मप्र में खरीदी जा रही घटिया धान

भोपाल। प्रदेश में इन दिनों समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी चल रही है। अधिकारियों की मिलीभगत से अमानक और मिलावटी धान की खरीदी कर सरकार को चपत लगाई जा रही है। कटनी, जबलपुर, सागर के बाद अब कटनी में अमानक धान खरीदने का मामला सामने आया है। जिले के धान खरीदी केंद्र बघवार में धान की बोरियों में भूसी, बालू व पत्थर मिलने की शिकायत मिली है। इसके बाद उमाकांत उमराव प्रमुख सचिव खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग भोपाल एवं कलेक्टर सीधी ने एक संयुक्त जांच टीम गठित कर पूरे मामले की जांच के निर्देश दिए हैं। जांच टीम ने धान खरीदी केंद्र बघवार एवं स्लोक गोदाम रामपुर में रखी अमानक धान का परीक्षण किया, जिसमें 13 प्रतिशत धान अमानक पाई गई। धान की बोरियों में धान की भूसी, बालू, पत्थर भी पाए गए।


धान का परीक्षण कियाभोपाल एवं सीधी के जांच दल ने पहले स्लोक गोदाम रामपुर नैकिन में रखी धान का परीक्षण किया। इसके बाद हनुमते महिला स्वयं सहायता समूह धान खरीदी केंद्र बघवार की पाई गई अमानक धान का परीक्षण किया। इसके बाद धान खरीदी केंद्र बघवार पहुंचकर वहां रखी धान का परीक्षण किया। इसमें 13 प्रतिशत धान अमानक पाई गई एवं धान के बोरों में धान की भूसी, पाए गए।

वजन 30 से 33 किलो मिलायही नहीं भेजी गई धान का वजन भी काफी कम पाया गया। कई-कई बोरियों का वजन 30 से 33 किलो मिला। इस कारण उक्त खरीदी केंद्र से अब तक भेजी गई धान में 95 क्विंटल धान कम है। धान खरीदी केंद्र बघवार में अमानक पाई गई धान का परीक्षण करने भोपाल, सतना एवं सीधी के विशेषज्ञों की टीम धान खरीदी केंद्र बघवार से गोदाम रामपुर नैकिन में रखी धानों का परीक्षण किया। 


13 प्रतिशत धान अमानक अमानक की सीमा पांच प्रतिशत तय की गई है, जबकि यहां 13 प्रतिशत धान अमानक पाई गई। अधिकांश धान कार्बनिक मापदंड एक प्रतिशत के स्थान पर चार प्रतिशत, अकार्बनिक एक प्रतिशत के स्थान पर 5.5 प्रतिशत, क्षतिग्रस्त, बदरंग, अंकुरित एवं घुने दाने पांच प्रतिशत के स्थान पर 13 प्रतिशत, अपरिपक्व कुम्लाहे एवं सिकुड़े दाने तीन प्रतिशत के स्थान पर 7.2 प्रतिशत अमानक पाए गए।


धान में बालू पत्थर की शिकायतशासन द्वारा प्रत्येक गोदामों में धान खरीदी केंद्रों से गोदामों में आने वाली धान के बोरों के वजन एवं मानक परीक्षण के लिए सर्वेयर नियुक्त किया गया है। सर्वेयर धान की बोरियों का परीक्षण कर जो धान मानक एवं जिन बोरियों का वजन निर्धारित मात्रा में पाया जाता है, उन्हीं धान की बोरियों को गोदाम के अंदर रखा जाता है। जो धान अमानक पाई जाती है अथवा जिन बोरियों का सही वजन नहीं होता धान की भूसी, रेत एवं छोटे पत्थर भी खरीदी केंद्र बघवार एवं स्लोक गोदाम उन्हें वापस खरीदी केंद्रों को भेज दिया जाता है। 


संस्था पर होगी कार्रवाईधान में बालू पत्थर की शिकायत पर की गई जांच नीलेश शर्मा प्रभारी अधिकारी खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति सीधी ने बताया कि धान खरीदी केंद्र बघवार में धान अमानक पाए जाने एवं धान की बोरियों में बूसी, बालू एवं पत्थर पाए जाने की शिकायत मिली थी। इसकी जांच कराई जा रही है। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे उसी के अनुसार संबंधित व्यक्ति और संस्था के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

सोशल मीडिया पर देखें खेती-किसानी और अपने आसपास की खबरें, क्लिक करें...

- देश-दुनिया तथा खेत-खलिहान, गांव और किसान के ताजा समाचार पढने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म गूगल न्यूजगूगल न्यूज, फेसबुक, फेसबुक 1, फेसबुक 2,  टेलीग्राम,  टेलीग्राम 1, लिंकडिन, लिंकडिन 1, लिंकडिन 2, टवीटर, टवीटर 1, इंस्टाग्राम, इंस्टाग्राम 1कू ऐप से जुडें- और पाएं हर पल की अपडेट